कहानी

सीतापुर में नया स्थापित हस्तक्षेप केंद्र- एक उम्मीद ले कर आया है

सामान्य विद्यालय के अन्तर्गत स्थापित नया सामुदायिक हस्तक्षेप केन्द्र समुदाय में समावेश की नई भावना ले कर आया है।

एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चे और उनके शिक्षक शरबतपुर सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के सामने खड़े हुए हैं।

पर्किन्स इंडिया  ने जयति भारतम् की सहभागिता में शासकीय माध्यमिक विद्यालय, सीतापुर में बहुदिव्यांगता एवं दृष्टि दिव्यांगता से ग्रस्त बच्चों (एमडीवीआई) के लिए नए सामुदायिक हस्तक्षेप केन्द्र का आरम्भ किया है। यह पर्किन्स इंडिया  के कार्यक्रम के विस्तार का प्रतीक है, कारण उनके द्वारा आरम्भ किया गया यह दूसरा सामुदायिक हस्तक्षेप केन्द्र है। एक अन्य केन्द्र का आरम्भ जुलाई २०२१  में गोसाईगंज में किया गया था।

यह केन्द्र समुदाय में एमडीवीआई से  ग्रस्त  बच्चों को शैक्षिक, उपचारात्मक और स्वास्थ्य सम्बन्धी सहायता प्रदान करेगा। ऐसी जगह के आभाव से जहाँ बच्चों को विशेष सहायता प्राप्त होती है, यह बच्चे घर पर ही रह जाते। यह केंद्र इन बच्चों को नए कौशल सीखने और सामूहीकरण करने के अवसर प्रदान करता है।

एमडीवीआई से ग्रस्त  दो बच्चे सामुदायिक हस्तक्षेप केन्द्र में रंग बिरंगी गेंद पकड़े हुए हैं।

विद्यालय प्रशासन ने इंटरवेंशन सेंटर द्वारा उपयोग के लिए खेल के मैदान सहित मौजूदा स्थान दिया है । शासकीय माध्यमिक विद्यालय के साथ यह साझेदारी एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों और उनके परिवारों के लिए एक ही स्थान पर सेवाएं उपलब्ध कराएगी। केन्द्र बच्चों और उनके परिवारों के लिए सामुदायिक सहयोग प्रदान करेगा और बच्चों के हस्तक्षेप सम्बन्धी कार्यक्रम में माता-पिता को सहभागिता का सर्वाधिक अवसर देगा। यह उन्हीं परिवारों का समुदाय है जो एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों को विद्यालय में प्रवेश के लिए सहायता प्रदान करेगा और उन्हें दूसरे बच्चों के साथ सीखने तथा मनोरंजनात्मक गतिविधियों में भाग लेने के योग्य बनाएगा।

विद्यालय के खेल के मैदान में बच्चे समूह में एकत्र हैं और खेल रहे हैं।

हस्तक्षेप केन्द्र का उद्घाटन ७ अक्टूबर २०२१ को हुआ, जिसमें प्रमुख अतिथि के रूप में सीएचसी के अधीक्षक डॉ संजय श्रीवास्तव उपस्थित थे। डॉ संजय श्रीवास्तव ने सीतापुर में एमडीवीइाई से ग्रस्त बच्चों के लिए पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम् के द्वारा की गई पहल और उनके द्वारा किए गए कार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों को हस्तक्षेप प्रदान करने के लिए पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम द्वारा यह एक महान पहल है जो इन बच्चों के लिए पहले कभी उपलब्ध नहीं थी ।

उद्घाटन में उपस्थित अन्य गणमान्य व्यक्ति थेः डॉ. दुर्गेश तोमर, प्रबन्धक ब्लॉक कम्युनिटी प्रोग्राम्स, सीएचसी; श्री संजय शुक्ला, प्रधानाचार्य, शासकीय माध्यमिक विद्यालय, शरबतपुर; और श्री राम किशोर, प्रधानाचार्य, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, महोली।

सामुदायिक हस्तक्षेप केन्द्र के उद्घाटन के अवसर पर गणमान्य लोगों को सम्मानित किया गया।

श्री संजय शुक्ला, शासकीय माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य ने कहा,“पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम्, एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों के सन्दर्भ में आवश्यकतानुसार हस्तक्षेप प्रदान करके प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं। हम यह भी चाहते हैं कि दिव्यांगता से ग्रस्त बच्चे हमारे विद्यालय में सम्मिलित किए जाएं और उसका हिस्सा बनें। यह एक बड़ी पहल है। हम इसका हिस्सा बनना चाहते हैं और इस कार्य में अपना पूर्ण सहयोग देते हुए यहाँ स्थान उपलब्ध करा रहे हैं, जिससे वे यहाँ हस्तक्षेप प्राप्त कर सकें।”

मोटे काँच का  चश्मा पहने एमडीवीआई से ग्रस्त एक बालक एक वयस्क से रंगीन गेंद लेते  हुए ।

पर्किन्स इंडिया अपने साझेदारो के साथ मिल कर भविष्य में अधिक केन्द्र स्थापित कर अपने कार्य को निरन्तर प्रगति प्रदान करेगा। हमारे न्यूज़लेटर को प्राप्त करने के लिए आप साइन अप करें जिससे कि आप एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों के लिए स्थानीय क्षमता के निर्माण करने में हमारी प्रगति का अनुसरण कर सकें।

SHARE THIS ARTICLE
कहानी

“हम बहुत खुश हैं कि वह सीख सकती है।”

शेफाली पर्किन्स स्कूल फॉर द ब्लाइंडकैंपस में एक छात्रा को पढ़ाती हैं।
कहानी

एक कविता : एक लड़का जो अलग तरह से सोचता है

मोटे कांच का चश्मा पहने हुए एक लड़का रंगीन गेंद को पकडे हुए ।
कहानी

रेहान के लिए एक नई शुरुआत