Skip to content
कहानी

गोसाईगंज में नए सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र की पहल

पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम ने गोसाईगंज में ग्राम पंचायत के सहयोग से एक सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र की शुरुआत की।

जयति भारतम और पर्किन्स इंडिया के गणमान्य व्यक्तियों और मार्गदर्शकों ने गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उदघाटन के वक़्त फीता काट कर शुभ आरम्भ किया ।

जयति भारतम के साथ साझेदारी में पर्किन्स इंडिया ने ग्राम पंचायत सेमनापुर के अधिकारियों के उदार समर्थन से, लखनऊ जिले के गोसाईगंज ब्लॉक में बहु दिव्यांगता एवं दृष्टि दिव्यांगता (एमडीवीआई) से ग्रस्त बच्चों के लिए पहले सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र की शुरुआत की। ग्राम पंचायत के अधिकारियों ने गोसाईगंज और चिनहट ब्लॉक के एमडीवीआई से ग्रस्त १५-२० बच्चों के लिए शैक्षिक, स्वास्थ्य और चिकित्सीय हस्तक्षेप की सुविधा के लिए २ कमरे और एक आंगन दान करके अपना समर्थन दिया।

दृष्टि दिव्यांगता से ग्रस्त बच्चे को गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के समय एक महिला द्वारा समर्थन देते हुए ।
दृष्टि दिव्यांगता से ग्रस्त बच्चे को गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के समय एक महिला द्वारा समर्थन देते हुए ।
चश्मा पहने लड़का कैमरे की ओर देखते हुए ।
चश्मा पहने लड़का कैमरे की ओर देखते हुए ।

साझेदारी से बच्चों और उनके परिवारों के लिए ये आवश्यक सेवाएं एक छत के नीचे उपलब्ध होंगी । साथ ही यह माता-पिता को अपने बच्चों के हस्तक्षेप में अधिक से अधिक भागीदारी के लिए एक साथ आने का अवसर प्रदान  करेगी ।

ग्राम पंचायत के पदाधिकारियों द्वारा दिए गए समर्थन का यह अपरंपरागत तरीका निरंतर सेवाएं प्रदान करने हेतु स्थानीय समुदायों के साथ सहयोगात्मक कार्य पद्धति के प्रति पर्किन्स इंडिया की प्रतिबद्धता को दर्शाती है।

जयति भारतम की मुख्य पदाधिकारी रेणु अग्निहोत्री गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के दौरान गणमान्य व्यक्तियों से बात करते हुए।
जयति भारतम की मुख्य पदाधिकारी रेणु अग्निहोत्री गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के दौरान गणमान्य व्यक्तियों से बात करते हुए।

हस्तक्षेप केंद्र का उद्घाटन १६ जुलाई २०२१, को श्री. विनोद कुमार शाही, मुख्य अतिथि, महाधिवक्ता, उत्तर प्रदेश राज्य; ब्लॉक विकास कार्यालय, गोसाईगंज ब्लॉक के प्रतिनिधि; और ग्राम पंचायत के सदस्यों की उपस्थिति में हुआ।

मुख्य अतिथि श्री. शाही ने लखनऊ और सीतापुर में एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों के लिए पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम के माध्यम से की गई पहल और कार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, “यह पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम द्वारा एक अत्यावश्यक पहल है और कई परिवारों और दिव्यांगता से ग्रस्त बच्चों के लिए एक आशीर्वाद है। यह पहल कई अन्य संगठनों को इस तरह के सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।”

उद्घाटन के दौरान उपस्थित अन्य गणमान्य व्यक्तियों में शामिल थे; सुश्री रंजना अग्निहोत्री (वरिष्ठ अधिवक्ता, उच्च न्यायालय, लखनऊ पीठ, उत्तर प्रदेश और जयति भारतम की सचिव); श्री सुजीत शुक्ला (अधिवक्ता उच्च न्यायालय, लखनऊ) और श्री संतोष कुमार (सीआरसी, लखनऊ)।

गोसाईगंज कम्युनिटी हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के दौरान मां की गोद में मुस्कुराता एक जवान लड़का।
गोसाईगंज कम्युनिटी हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के दौरान मां की गोद में मुस्कुराता एक जवान लड़का।
गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के समय एक लड़की अपना बैग पकड़े बैठी है, जिस पर 'पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम प्रोजेक्ट आईडीआई' लिखा हुआ है।
गोसाईगंज सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के उद्घाटन समारोह के समय एक लड़की अपना बैग पकड़े बैठी है, जिस पर ‘पर्किन्स इंडिया और जयति भारतम प्रोजेक्ट आईडीआई’ लिखा हुआ है।
SHARE THIS ARTICLE
एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चे और उनके शिक्षक शरबतपुर सामुदायिक हस्तक्षेप केंद्र के सामने खड़े हुए हैं।
कहानी

सीतापुर में नया स्थापित हस्तक्षेप केंद्र- एक उम्मीद ले कर आया है

आशा कार्यकर्ताएं एक ऍमडीवीआई से ग्रस्त बच्चे के पास बैठीं हैं जिसने हाथ में खिलौनों को पकड़ रखा है।
कहानी

सीतापुर में एक नये प्रशिक्षण कार्यक्रम ने अनेक एमडीवीआई से ग्रस्त बच्चों के लिए शैक्षिक अवसर निर्माण हुए।

रंगीन चक्र के साथ दीर्घकालिक विकास लक्ष्यों का प्रतीक चिन्ह
कहानी

संयुक्त राष्ट्र ने पर्किन्स इंडिया के प्रोजेक्ट आईडीआई (पहचानऔर हस्तक्षेप परियोजना ) को वैश्विक लक्ष्यों की ओर अच्छे आचरण के रूप में मान्यता दी है।